बच्चियों एवं महिलाओं पर बढ़ते अपराध

आए दिन खबरों में देखने को मिलता है कि कहीं किसी जगह पर किसी महिला या बच्ची से बलात्कार हुआ है। कहीं सामूहिक बलात्कार तो कहीं बलात्कार के बाद हत्या जैस

Read More

आज मेरे ख्वाबों ने फिर से साजिश की…

आज मेरे ख्वाबों ने फिर से साजिश की।तुम्हे ख्वाबों में फिर बुलाने की कोशिश की।तुम तो फैसला कर चुके हो कब का, न लौटने का।पर दिल को शायद अब भी इंतजार है

Read More